गुजरात के वडोदरा में एक परिवार 15 दिन से धक्के खा रहा...

गुजरात के वडोदरा में एक परिवार 15 दिन से धक्के खा रहा है कारण है मुस्लिम होना

47
SHARE

गुजरात के वड़ोदरा एक व्यक्ति को घर नहीं मिल पा रहा कारण है की वो मुसलमान है जी हां भारत के संविधान में यह ज़रुर लिखा गया है की भारत पंथ निरपेक्ष है लेकिन लिखने और समझने में बहुत फर्क होता है।

गुजरात के वड़ोदरा में एक संपन्न परिवार सिर्फ दरबदर ठोकरे खा रहा है। 15 दिन में सिर्फ न शब्द सुना और खासकर नाम सुनकर व पहचान जानकर इस न शब्द को सुनकर सिर्फ रोया जा सकता है।

बहन और बहनोई की आपबीती जब एक भाई ने फेसबुक पर पोस्ट की तो तथाकथित समाज की एकाएक पोल खोलकर रख दी। उसने बताया कि पढ़-लिखकर भी लोगों के अंदर अभी भी कितना जाति व रंगभेद से लेकर समाज के अलग.अलग लोगों ने लिए एक अलग सोच बनी हुई है जो शायद फेसबुक पर नहीं दिखती। जमीन पर जाकर इसका एहसास होता है। जब उससे सामना होता है।

फेसबुक पर ताबिस ने लिखा किए सोचिये देश की ज़मीनी स्थिति क्या हैण्ण् मेरी बहन बैंगलोर से वड़ोदरा शिफ़्ट हुई क्यूंकि मेरे बहनोई की वहां नौकरी लगी है। अभी कंपनी ने पंद्रह दिन के लिए उनको अच्छे होटल में ठहराया है ताकि उनके लिए घर ढूंढा जा सके।

कल बहन रोते हुवे बता रही थी कि यहाँ उसने इतना अपमानित महसूस किया जितना अपने जीवन में कभी नहीं किया करीब तीस फ्लैट देख चुके हैं वो लोग मगर सिर्फ मुस्लिम होने की वजह से कोई फ्लैट देने को तैयार नहीं हैं।

उनके साथ एक जो उनके हिन्दू दोस्त भी वड़ोदरा आये थे उनको दो दिन के भीतर पेंट हॉउस मिल गया मगर मेरी बहन को सिंपल फ्लैट भी कोई देने को तैयार नहीं है गुजरात के वड़ोदरा की हालत। मेरे बहनोई एरोनॉटिकल इंजीनियर है और किसी उलटी सीधी जगह रह भी नहीं सकते हैं।आप कितने भी पढ़े लिखे हों। किस पंथ या किस विचारधारा के हो इस से कोई फ़र्क नहीं पड़ता है।

आप नाम से मुसलमान हैं तो आपको लोग किसी भी हाल में घर किराए पर देने को राज़ी नहीं होते हैं सारा सर्वधर्म समाभाव और सारी सहिष्णुता फेसबुक पर मिलती है लोगों में। असल जीवन में वही जाति.पाति का घिनौनापन और वही छुआ.छूत भरा है हम भारतीयों के जीवन में। इस तरह के तमाम सवाल है जो समय समय पर पूछे जाते हैं। तमाम रंगों वाला हमारा देश हैएतमाम बोली-भाषाओं वाला हिंदुस्तान है फिर भी यहां ऐसे शहर बसते हैं जहां लोगों को रहने के लिए भटकना पड़ता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY