यूटी कादर अपनी 7 साल की बेटी को खो चुके थे अब...

यूटी कादर अपनी 7 साल की बेटी को खो चुके थे अब मिली तो बन चुकी थी हाफिज़ा

59
SHARE

कर्नाटक के खाद्य और आपूर्ति मंत्री यूटी कादर मंगलुरु से विधायक हैं। उन्होंने साइंस की पढ़ाई की थीए और वकील बनना चाहते थेए लेकिन एक राजनेता बन गए। और आज कर्नाटक के खाद्य और आपूर्ती मंत्री हैं।

यूटी कादर अपने परिवार के साथ रमज़ान के महीने में मक्का गए थे। जिस दिन उन्हें वापस आना थाए उसी दिन उनकी सात साल की बेटी हव्वा नसीमा भीड़ में कहीं खो गई। हैरान परेशान कादर ने काबे के सामने खड़े होकर मन्नत मांगी कि अगर बेटी वापस मिल जाए तो वो उसे हिफज़ुल कुरआन की तालीम दिलवाएंगे।

कादर की रवानगी से पहले ही बेटी मिल गई। वे लोग काबा से खुशी.खुशी घर लौटे। उसके बाद उन्होंने हव्वा नसीम को केरल के एक धार्मिक स्कूल में कुरआन की पढ़ाई के लिए भेज दिया। इससे पहले हव्वा एक कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ती थी।

आज 11 साल की हो चुकी हव्वा को कुरआन के 30 पारे ज़ुबानी याद हैं। शुरुआत में हव्वा को उसके पिता ने केरला के कासरगोड़ जिले के अड्डियार के मद्रासतुल बायन में भर्ती कराया। जहां उसने डेढ़ साल तक कुरआन की शिक्षा ग्रहण की। हव्वा ने आगे की तालीम कोनजे के तनफिजल कुरआन वुमेंस कॉलेज से ग्रहण की।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY