सैनिक के शव को मिला सम्मान की जगह अपमान

सैनिक के शव को मिला सम्मान की जगह अपमान

84
SHARE

वैसे तो पकिस्तान हमेशा अपनी नापाक हरकतों से सुर्ख़ियों में रहता है पर इस बार तो पकिस्तान ने हद ही कर दी, पाक ने बता दिया की उसमें इंसानियत नाम की कोई चीज़ नहीं है! आज माछिल में कुछ चरमपंथियों ने भारतीय सैनिक की हत्या कर दी इसके बाद भी उन्हें शांति नहीं मिली तो उन्होंने शव के साथ जो किया उसपर विशवास कर पाना अतियन्त कठिन है! इसमें पाकिस्तानी सेना ने भी उनका साथ दिया!

सेना के हवाले से प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार कि नियंत्रण रेखा के पास संदिग्ध चरमपंथियों ने एक भारतीय सैनिक की हत्या कर उसके शव को विकृत किया है! सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि एक घृणित कृत्य करते हुए चरमपंथियों ने भारतीय सैनिक के शव को विकृत किया और पाकिस्तान सेना की ओर से की गई कवर फ़ायरिंग का फ़ायदा उठाकर भाग गए!

सैनिक एक ऐसा पद है जो अति सम्मानिय है! तभी दुनिया भर में युद्ध के दौरान बंधक सैनिकों के साथ अच्छा व्यवहार करने की सलाह दी जाती है! भारतीय सैनिकों के साथ ऐसा पहली बार नहीं हुआ की उनके शव के साथ बर्बता बरती गयी हो बल्कि पहले भी ऐसी घटनाये सामने आती रही हैं! परन्तु ये नही पता हमारी सरकार की ऐसी क्या नाकामी है की कई प्रकार की घटनाएं घटित होने के बाद हमारी सेना तो सेना  उनके शवों को भी नहीं बख्शा जाता! अपनी सरकार से इस घटनाक्रम के बारे में उचित कर्येवाही की मांग भी नहीं कर सकते क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी ने कुछ दिन पहले कहा था “सेना बोलती नही पराक्रम दिखती है”! लेकिन आज वही सेना पूछ रही है “मोदी जी हम पराक्रम दिखा रहे हैं और आप सिर्फ बोल रहें हैं” जब भारतीय सेना ने कुछ समय पहले सर्जिकल स्ट्राइक किया था तब सत्तारुढ़ी पार्टी ने पी एम मोदी का कुछ ऐसा गुणगान किया मानो बंदूंक लेकर  सीमा पर मोदी जी ही गएँ हों परंतु अगर इस तरह की घटनायें घटित होती हैं तो इसकी जवाबदेही किसकी है?

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY