सुप्रीम कोर्ट ने अब हस्तमैथुन को निकाला अपराध की श्रेणी से

सुप्रीम कोर्ट ने अब हस्तमैथुन को निकाला अपराध की श्रेणी से

87
SHARE

हस्तमैथुन का मामला इतना संगीन है की यह कोर्ट तक पहुंच गया है यह पूरा मामला इटली का है। इटली की सुप्रीम कोर्ट ने हस्तमैथुन को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने ऐसे लोगों को बड़ी राहत दी है जो हस्तमैथुन करने के आदि है। अदालत ने अपने फैसले में कहा है की अगर किसी नाबालिग के मौजूदगी में हस्तमैथुन नहीं किया जाए तो सार्वजनिक जगहों पर इसे करना गैरकानूनी नहीं है। इटली की एक अदालत ने यह फैसला 69 साल के बुज़ुर्ग के मामले में दिया है।

यह व्यक्ति इटली के एक शहर में यूनिवर्सिटी कैंपस के भीतर छात्रों के सामने मास्टरबेट करता पकड़ा गया था। इस घटना के बाद इटली में काफी बवाल भी हुआ था और उस व्यक्ति पर कानूनी भी की गई थी। पिछले साल उसे कैंपस में हस्तमैथुन करने के लिए दोषी पाया गाया था। अदालत ने उसे 3 माह की जेल और 3600 डॉलर जुर्माना लगाया था जिसके बाद उसने सर्वोच्च न्यायलय में इस फैसले को चुनौती दी थी।

सुप्रीम कोर्ट ने कानून में बदलाव करते हुए अब हस्तमैथुन को अपराध की श्रेणी से निकाल दिया है। अब केवल नाबालिग के सामने ही इसे करने पर अपराध माना जाएगा। बता दें की दुनिया में कई ऐसे देश है जहाँ सार्वजनिक जगहों पर हस्तमैथुन करना गुनाह है। इसके लिए सज़ा भी निर्धारित की गई है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY