देश के सबसे बड़े नेताओं में शुमार जयललिता कह गईं अलविदा

देश के सबसे बड़े नेताओं में शुमार जयललिता कह गईं अलविदा

44
SHARE

देश की राजनीति मेें एक बड़ा राजनैतिक शून्य……….

तमिलनाडू की मुख्यमंत्री जे जयललिता अब हमारे बीच नहीं रहीं उनकी जगह पनीर सेल्वम ने तमिलनाडू के मुख्यमंत्री की कुर्सी सम्भाल ली

जयललिता ने 1982 में पहली बार राजनिती मेें कदम रखा उसके 2 साल बाद ही 1984 में वह राज्य सभा के लिए चुन ली गई ! आपको बता दें की 1991 में ए आई डी एम के ने कांग्रेस पार्टी के साथ हाथ मिलाया ओर तमिलनाडू की 234 में से 225 सीटों पर कब्ज़ा कर जय ललिता मुख्यमंत्री बनी !

उसके बाद कभी उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा, ललिता ने लगातार छ बार मुख्यमंत्री का पद सम्भाला अम्मा के नाम से प्रसिद्ध ललिता ने सिर्फ मुख्यमंत्री की कुर्सी पर ही नहीं बल्कि लोगों के दिलों पर भी राज किया है!

जयललिता पढ़ने में बहुत तेज़ थी वो फिल्मों में आना नहीं चाहती थी पर घर की मजबूरियों ने फिल्मों में कदम रखने के लिए मजबूर कर दिया! गलेमर की दुनिया से आकर भी उन्होने राजनीति में सादगी को अपनाया न गहने न मेकअप न मंेहगं लिबास, मुख्यमंत्री के रुप में वह एक रुपया तनख्वा लेती रहीं यह और बात है की वह विवादों में भी घिरी उनके घर पर छापेमारी के दौरान सेंकडों जौड़ी जुते चप्पल और दूसरे मंहगे समान बरामद हुए! आय से अधिक सम्पत्ति का मुकद्दमा चला और कुछ समय के लिए वह जेल भी गई हालांकि सुप्रिम कोर्ट से बरी होने के बाद भ्रष्ट होने का आरोप उन पर चिपक गया!

she-was-one-of-the-biggest-leaders-in-the-country-say-goodbye1

राजनीति में आकर तमिलनाडु में बहुत कुछ अपने मन का कर पाने में भी वह कामयाब रहीं मुख्यमत्री के रुप में जो फैसले उन्होने लिए उन फैसलों ने ललिता को गरीब असाहाय लोगोे का नेता बना दिया ! 1993 में उन्होंने आरक्षण की व्यवथा को
मज़बूत कीया !

दक्षिण में पर्दे से राजनीति में तो बहुत आए लेकिन कोई जयललिता नहीं बन पाया ! तमिलनाडु की हवा आज उदास है चैन्नई से आने वाली हर तस्वीर यही बता रही है! की अम्मा फिल्मी पर्दे के अलावा राजनैतिक और असल जीवन में भी एक सुपरस्टार की भूमिका निभा कर गई हैं!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY