नोटबंदी ने ली एक जान ओर, भीड़ ने कुचलकर मार डाला

नोटबंदी ने ली एक जान ओर, भीड़ ने कुचलकर मार डाला

28
SHARE

नोटबंदी के कारण हो रही मौतों का सिलसीला थमने का नाम नहीं ले रहा देश के कौने कौने से नोटबंदी के कारण मरने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है! लेकिन मोदी सरकार को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता! ऐसी एक घटना लुधियाना स्थित पंजाब नेशनल बैंक के बाहर हुई जहां एक महिला अपनी बेटी की शादी के लिए नोटबंदी के चलते पिछले 5 दिन से बैंक की लाइन में लगी रही परंतु नोट तो नहीं मिले इससे महिला की मौत हो गई! जब यह सच सामने आया तो लोग भड़क उठे!

आशा रानी पांच दिन से रोज बैंक से रुपये निकलवाने के लिए घर से निकलती थीए लेकिन बारी आने से पहले ही कैश खत्म होने की बात कह कर उसे वापस भेज दिया जाता था! लेकिन एक बार वह पांच बजे बैंक के बाहर खड़ी हो गई! वहां पड़ोस में रहने वाली निशा भी थीए जिसने उन्हें बताया कि बैंक के सिक्योरिटी गार्ड ने आशा को धक्का मारा जिससे वह गिर गई और भीड़ ने उसे कुचल दिया!

जब यह बात परिजनों को पता चली तो वह बैंक के बाहर जोरदार हंगामा कियाए जिसके बाद बैंक वालों ने बैंक बंद कर दिया! बैंक के बाहर मौजूद लोगों ने भी पीड़ित परिवार का साथ दिया और रोड जाम कर दिया! बैंक के बाहर बुजुर्ग महिला आशा रानी का शव रखकर बैंक वालों के खिलाफ प्रदर्शन किया!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY