नोटबंदी से हो रहा है भारी नुकसान

नोटबंदी से हो रहा है भारी नुकसान

107
SHARE

नोटबंदी के कारण करेंसी की किल्लत से जहां आम आदमी जूझ रहा हैए वहीं उद्योगों पर भी इसका विपरीत असर हो रहा है! छोटे व्यापारी हों या बड़े हालत गम्भीर है! छोटे उद्योगों में उत्पादन सिमट कर तीस से चालीस फीसदी रह गया है! इस किल्लत के कारण छोटे उद्योगों को अब तक दस हजार करोड़ रुपये के नुकसान का अंदाजा लगाया जा रहा है! अकेले आज़ादपुर मंडी में ही 125 करोड़ का नुकसान हो गया है!

बैंकों में कैश की भारी कमी है! पांच.पांच घंटे लाइन में लगने के बावजूद रकम नहीं मिल पा रही है! ऐसे में तीस फीसदी उत्पादन भी मुश्किल से हो पा रहा है! पंजाब के छोटे उद्योगों को अब तक दस हजार करोड़ से अधिक का नुकसान हो चुका है! अभी यह स्थिति सुधरने की कोई उम्मीद नहीं दिख रही। ऐसे में उद्योगों को राहत देना अनिवार्य है! अन्यथा उद्यमियों के समक्ष भी किसानों की तरह आत्महत्याएं करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा!

यदि उद्यमियों की माने तो चालू वित्त वर्ष में स्थिति ठीक नहीं होगी और इस नुकसान की भरपाई अगले दो साल तक पूरी नहीं हो पाएगी! उद्यमियों ने मांग की है कि बैंकों के ब्याज माफ किए जाएंए बैंक की लिमिट 25 फीसदी तक बढ़ाई जाए और एनपीए की सीमा नब्बे की बजाए 180 दिन की जाए! फेडरेशन ऑफ स्माल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ऑफ इंडिया ;फासीद्ध के चेयरमैन बदीश जिंदल का कहना है कि हालत यह है कि उद्यमियों के पास रोजमर्रा के खर्च चलाने के लिए पैसे नहीं हैं!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY