नहीं कस रही भ्रष्टाचार पर लगाम, चलन में आ सकतें हैं पुराने...

नहीं कस रही भ्रष्टाचार पर लगाम, चलन में आ सकतें हैं पुराने नोट

50
SHARE

नोटबंदी के बाद भारत में खलबली का माहौल है ऐसे में अंदाज़ा लगाया जा रहा है की95 फीसदी तक के पुराने नोट फिर चलन में आ जाएंगे और मोदी सरकार का दावा झूठा साबित होगा!

पीएम मोदी द्वारा पुराने नोट बंद करने की घोषणा का आज 22 वां दिन है! और अब तक देशभर के विभिन्न बैंकों में 9 लाख करोड़ रुपए जमा हो चुके हैं! अनुमान के मुताबिक बंद हुए 500 और 1000 रुपए के नोटों का 60 प्रतिशत हिस्सा बैंकों में जमा हो चुका है और बाकी भी आने वाले दिनों में बैंकों में जमा हो जाएगा! ऐसे में कई लोग सरकार के नोटबंदी के फैसले पर सवाल उठाते हुए उसे गलत बता रहे हैं!

लोगों का मानना है कि भ्रष्टाचार और कालेधन पर रोक लगाने का सरकार का फैसला कारगर साबित नहीं हो रहा है! बल्कि भ्रष्टाचार बड़ गया है! बैंकरों और विश्लेषकों का मानना है कि 30 दिसबंर तक बंद किए गए नोटों का 90 से 95 प्रतिशत हिस्सा वापस बैंकों में आ जाएगा जिन्हें बाद में लोग निकाल भी सकेंगे और ऐसे में वह पैसा फिर से सफेद हो जाएगा!

जानकारों की माने तो, लगभग दस दिन पहले ही सरकार को पता लग चुका है कि भारी मात्रा में 500 और 1000 रुपये के नोट बैंकों में फिर से जमा करवाए जा रहे हैं! इनकम टैक्स द्वारा बनाई गई स्कीम से ज्यादा संपत्ति वाले लोग सरकार की आंखों में धूल झोंककर अपने पैसे को सफेद करने के तरीके निकाल रहे हैं!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY