ना धर्म एक ना उम्र सही पर फिर भी एक साथ है...

ना धर्म एक ना उम्र सही पर फिर भी एक साथ है ये प्रेमी जोड़ा

56
SHARE

गुजरात के बनासकांठा जिले के एक दो मंजिला घर में एक प्रेमी जोड़ा रहता है कहानी है जिसमें लड़का मुस्लिम है और लड़की हिंदू। लड़की की उम्र 19 साल और लड़के की 20 साल है। उन्हें साथ रहते हुए एक महीना हो गया है। हैरानी की बात यह है कि इस इस रिलेशनशिप को हाई कोर्ट ने मंजूरी दी है।

पहचान न उजागर करने वाला यह कपल फिलहाल अपने परिवार के साथ रह रहा है। लड़के की मां ने उनके रिश्ते को मंजूरी दे दी है। वह कहती हैं कि वह हमारी संस्कृति समझ रही है। वह कहती हैं कि हमने महसूस किया कि हमारा बेटा लड़की के साथ खुश है और इसलिए हमने कोई एेतराज नहीं उठाया। हमें उसके धर्म से भी कोई परेशानी नहीं है। वह हमारी संस्कृति समझ रही है और हमें उम्मीद है कि वह एक अच्छी बहू साबित होगी।

1970 में गुजरात के ऊंची जाति के हिंदू लोगों ने शुरू किया था। इस रिश्ते के लिए न ही लड़के और न ही लड़की ने अपना धर्म बदला। आप सोच रहे होंगे कि भारत के स्पेशल मैरिज एक्ट के मुताबिक लड़के की शादी की उम्र 21 और लड़की की 18 होनी चाहिए। जी हां कहानी यहीं घूमती है। दोनों की अभी तक शादी नहीं हुई है। दोनों को एक साल का इंतजार करना पड़ेगा। सलाहकारों ने उन्हें सलाह दी थी कि कानूनी तौर पर उनकी शादी नहीं हो सकतीए लेकिन वह मैत्री करार का सहारा ले सकते हैं।

लड़की ने कहा कि लड़के के परिवारवाले उसे घर का सदस्य ही मानते हैं। दुख इस बात का है कि उसे उसी के परिवारवालों ने अपनाने से इनकार कर दिया। मैं 13 और वो 14 साल के थे जब हमें प्यार हुआ। मेरे पिता एक सरकारी प्राइमरी स्कूल टीचर हैं जिनका शहर में ट्रांसफर हुआ और मैंने 9वीं क्लास में एडमिशन ले लिया। इसी स्कूल में लड़का भी पढ़ता था। लड़की अपने माता.पता के चार बच्चों में दूसरे नंबर की है और लड़का चार ही बच्चों में तीसरा। लड़की बताती है कि वह मेरे सीनियर थे और मैथ्स और साइंस की कोचिंग क्लासेज के दौरान हमारी दोस्ती बढ़ी और प्यार हो गया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY