हिजाब को किसी मज़हब से नहीं जोड़ना चाहिए- बसवराज रायारद्दी

हिजाब को किसी मज़हब से नहीं जोड़ना चाहिए- बसवराज रायारद्दी

55
SHARE

भारत में हिजाब पहनना सबसे बड़ा मुद्दा बनता दिखायी दे रहा है! जहां एक और मुंबई में एक शिक्षिका को हिजाब पहनने के कारण इस्तीफा देना पड़ा वहीं कर्नाटक उच्च शिक्षा मंत्री बसवराज रायारद्दी ने संघ परिवार के उस फ़ैसले की निंदा की जिसमें संघ ने कहा है कि लड़कियों को वो हिजाब नहीं पहनने देंगे!

रायारद्दी ने कहा कि हिजाब का समर्थन करते हुए काहा की हिजाब को किसी मज़हब से नहीं जोड़ना चाहिए यह एक संस्कृति है! कोई भी बुर्क़ा या हिजाब पहन सकता है! कोई ऐसा क़ानून तो है नहीं कि हिन्दू इसे नहीं पहन सकते! उनका बयान उस समय आया जब-

जब मुस्लिम लड़कियों ने श्री कुमारेश्वारा आर्ट्स और कॉमर्स कॉलेज में बुर्क़े पर पाबंदी की सूरत में पढ़ाई छोड़ देने की धमकी दी

इसके अलावा उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि जो भी शिक्षा संस्थान बुर्क़ा या हिजाब पर पाबंदी लगाएगा उसके ख़िलाफ़ कड़े क़दम उठाये जायेंगे!

रायारद्दी की यह बयान सबक है उन लोगों के लिए जो हिजाब पहनने वाली महिलाओं के साथ भेद भाव पूर्ण नीति अपनाते हैं! और मजबूर करते हैं की बुर्का या हिजाब न पहने!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY