गैंगस्टर रॉकी की बहन राजदीप कौर उतरीं राजनीति मैदान में, निर्दलीय उम्मीदवार...

गैंगस्टर रॉकी की बहन राजदीप कौर उतरीं राजनीति मैदान में, निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लडेंगीं चुनाव

133
SHARE

पंजाब विधानसभा चुनावों में 43 वर्षीय राजदीप कौर फाजिल्का से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर प्रचार कर रही हैं और उन्होंने लोगों से वादा किया है कि वह गरीबों की सेवा करने के अपने भाई के सपने को पूरा करेंगी। आपको बता दें राजदीप कौर दिवंगत गैंगस्टर जसविंदर सिंह रॉकी की बहन है।

साल 2012 में रॉकी ने बीजेपी के सुरजीत कुमार जयंती के खिलाफ चुनाव लड़ा था जिसमें वह महज 1ए595 वोटों से हार गया था। गोरतलब है की पिछले साल अप्रैल में परवाणू में रॉकी मारा गया था। उस पर पंजाब और राजस्थान के पुलिस थानों में 23 मुकदमे चले थे लेकिन कई में वह बरी हो गया था।

एक अमृतधारी सिख और ग्रैजुएट कौर ने कहा कि रॉकी 40 हजार से ज्यादा वोटों से जीता था तो कोई उसकी लोकप्रियता का अंदाजा नहीं लगा पाया। उन्होंने कहा कि मेरे भाई का सपना गरीबों की सेवा करना था और अब उन्हें देखने के लिए कोई नहीं है। मैं चुनाव लड़कर उसका सपना पूरा करूंगी।

दरअसल गैंगस्टर से नेता बने पंजाब के जसविंदर सिंह उर्फ रॉकी की परवाणू ;हिमाचल प्रदेशद्ध के टीटीआर होटल के पास गोलीमार कर हत्या कर दी गई थी। घटना आपसी रंजिश का नतीजा बताई जा रही थी। फाजिल्का ;पंजाबद्ध से निर्दलीय तौर पर चुनाव लड़ चुका जसविंदर घटना के समय सोलन से चंडीगढ़ की तरफ जा रहा था। उसी दौरान यह हमला हुआ और वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। बाद में उसकी मौत हो गई थी। घटना के समय जसविंदर के साथ दो सुरक्षाकर्मी भी थे लेकिन वे दूसरी गाड़ी में थे।

जब कौर से रॉकी के आपराधिक रिकॉर्ड के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कोई भी मुझसे इस तरह के सवाल नहीं पूछता। इतना ही नहीं वह पिछले कई वर्षों से गरीबों की सेवा कर रहा था। कौर के इस चुनावी कैंपेन की बागडोर रॉकी के पुराने दोस्त अनुराग कंबोज के हाथों में है। उन्होंने कहा कि रॉकी पिछले कई वर्षों से किसी आपराधिक गतिविधि में शामिल नहीं था। हमारा सपना लोगों को रोजगार और बेहतर शिक्षा मुहैया कराना है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY