चंदे लेने के मामले में बीजेपी सबसे आगे, पछाड़ा अन्य पार्टीयों को

चंदे लेने के मामले में बीजेपी सबसे आगे, पछाड़ा अन्य पार्टीयों को

27
SHARE

नोटबंदी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को कैशलेश बनाने की मुहिम छेड़ रखी है और इसके लिए कानून के साथ.साथ स्कीम भी ला रहे हैंए ताकि कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा मिल सके। लेकिन यदि मोदी भारत को सच में ही कैशलेस बनाना चाहते है तो उन्हें शुरुआत अपनी पार्टी से करनी चाहिए….

एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ;एडीआरद्ध की रिपोर्ट के मुताबिक 20 हज़ार से कम चंदा दिखाने में बीजेपी नंबर एक पर है। इस साल बीजेपी को चंदे से 872 करोड़ रुपए मिलेए जिसमें उसने 434 करोड़ 67 लाख रुपए का चंदा 20 हजार से कम चंदे की शक्ल में बताया है। गोरतलब है कि 20 हज़ार रुपये से कम का चंदा कैश में लिया जाता है और इसका हिसाब-किताब चुनाव आयोग को नहीं देना पड़ता है।

नोटबंदी के बाद सरकार डिजिटल ट्रांजेक्शन पर जोर दे रही है लेकिन साल 2004 से 2015 के बीच हुए विधानसभा चुनावों में विभिन्न राजनीतिक पार्टियों को 2,100 करोड़ रुपये चंदा मिलाए जिसका 63 फीसदी हिस्सा कैश से आया था।

अब चुनाव आयोग अपनी सिफारिश कानून मंत्रालय को भेज चुका है और उसने सरकार को इस संबंध में कानून में ज़रूरी बदलाव करने की सलाह दी है। दिलचस्प यह होगा कि मोदी सरकार चुनाव आयोग के इस प्रस्ताव पर क्या करती है और क्या इस पर सभी राजनीतिक दलों की एक राय हो सकती है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY