प्रशासन के पास जनता के सवालों का नहीं है कोई जवाब, मीडिया...

प्रशासन के पास जनता के सवालों का नहीं है कोई जवाब, मीडिया को देख कर भाग खड़े हुए आरबीआई गर्वनर उर्जित पटेल

77
SHARE

50 दिन का वादा, नोटबंदी से मिलेगी राहत अब बेकार सिद्ध हो रहा है। शहरों में तो फिर भी गनिमत है परंतु गांव की स्थिति तो ज्यों की त्यों बनी हुई है। और अब प्रशासन व सरकार से सवाल करने पर उसका जवाब मिलना तो दूर सभी पांव दबा कर भाग रहैं है।

नोटबंदी के 64 दिनों में भी परेशानी उठा रही जनता के सवाल तमाम है। जिसका जवाब न सरकार के पास है और ना ही आरबीआई के पास। इसलिए शायद आरबीआई गवर्नर सवालों से मुंह मोड़कर सीढ़ियां कूदकर भाग रहे हैं। यह नजारा वाइब्रेंट गुजरात प्रोग्राम में देखने को मिला। गांधीनगर पहुंचे गवर्नर उर्जित पटेल का इंतजार मीडिया वाले कर रहे थे। लेकिन उर्जित पटेल मीडिया को देखकर पीछे के दरवाजे से निकले की कोशिश करने लगे। लेकिन जब मीडिया उनके पीछे.पीछे करीब पहुंचने लगी तो उन्होंने एकसाथ कई सीढ़ियों से छलांग लगा दी। और बचते बचाते वहां से निकल गए।

ऐसा शायद पहली बार हुआ होगा की जनता की जवाबदेही सरकार के साथ.साथ आरबीआई से भी बन गई है। इसलिए शायद बीजेपी नेताओं के बाद आरबीआई गवर्नर भी जनता के सवालों से पीछा छुड़ाकर भागने लगे हैं। कुछ दिन पहले ही संसद की लोख लेखा समिति ने आरबीआई गवर्नर को नोटबंदी मामले में तलब करते जवाब मांगा। इस मामले में ही मीडिया गवर्नर से सवाल करना चाहती थी। लेकिन गवर्नर मीडिया के सवालों से भाग निकले।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY