5 साल की बच्ची का शव कंधे पर लादकर 1 घंटे तक...

5 साल की बच्ची का शव कंधे पर लादकर 1 घंटे तक चलता रहा युवक, सोता रहा प्रशासन

30
SHARE

ओडिशा अंगुल जिले में दाना मांझी को को अपनी पांच साल की बेटी का शव अस्पताल एक किलोमीटर तक अपने कंधे पर उठा के ले जाना पड़ा क्योंकि उन्हें ऐसी कोई मदद नहीं मिली जो उन्हें उनके गांव तक छोड़ पाती।

पल्लाहारा कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर के पास सरकारी योजना के तहत शव वाहन नहीं है। जिसके चलते गति धीबर नाम का यह शख्स शव कंधे पर लादे लगातार एक घंटे तक पैदल चलता रहा जिसे रास्ते में कई लोगों ने देखा और अपने मोबाइल फोन पर रिकॉर्ड किया। धीबर भी कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर के बाहर अपनी बेटी सुमी को कंधे पर लादे निकले उन्होंने इस बारे में अधिकारियों को सूचित नहीं किया लेकिन प्रशासन से भी अपनी ओर से जिम्मेदारी निभाने में चूक हो गई।

जिला अस्पताल से ही गाड़ी मंगवाती है। जिला अधिकारियों का कहना है कि अगर धीबर इंतज़ार कर लेते तो उन्हें शव वाहन जरूर मुहैया करवाया जाता। अस्पताल के दो स्टाफ सदस्यों को लापरवाही के चलते हटा दिया गया है जिसमें एक जूनियर मैनेजर और सुरक्षा कर्मचारी है जिन्हें धीबर को शव को बाहर ले जाने से रोकना चाहिए था। वहीं सब डिविज़्नल मेडिकल अधिकारी से भी पूछा गया है कि क्यों न उनके खिलाफ कोई कार्यवाही की जाए।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY