फ़र्ज़ी राष्ट्रवाद के निशाने पर ओमपुरी, मोत के बाद अंधभक्त दे रहे...

फ़र्ज़ी राष्ट्रवाद के निशाने पर ओमपुरी, मोत के बाद अंधभक्त दे रहे हैं देशद्रोह का ख़िताब

58
SHARE

देशभक्ति, देशद्रोह, राष्ट्रवाद और गद्दार जैसे शब्द आज कल काफी सुनने को मिल रहे हैं। राजनैतिक पार्टीयों ने इन शब्दों को हथियार बना लिया है जिसको मन चाहे इस्तेमाल करते है और इस बात का ढंका पीटते है कि उनसे बड़ा कोई देशभक्त नहीं है। पिछले कुछ सालों का अगर ईमानदारी से आकलन किया जाये तो इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि केंद्र में मोदी सरकार के सत्तासीन होने के बाद से ही देशद्रोह और गद्दार जैसे शब्द सोशल मीडिया से लेकर तमाम समाचार चैनलों पर देखने और सुनने को खूब मिल रहें हैं।

अंध-राष्ट्रवाद का परिणाम कितना ज़हरीला और जाहिलाना हो सकता हैए इसका अंदाज़ा हम बीते ढाई सालों में लगा चुकें हैं, इस बीच अब अपने दमदार अभिनय और बेहतरीन संवाद अदाएगी से अपना लोहा मनवा चुके अभिनेता ओम पूरी की मौत के बाद सोशल मीडिया पर उनको देशद्रोही, गद्दार और पाकिस्तानी कहना अंधभक्तों की फर्जी देशभक्ति की अगली कड़ी है।

जी हां हैरानी की बात है की सिर्फ देश में ही नहीं विदेशों में देश का नाम रोशन करने वाले ओम पुरी आज मरने के बाद फर्जी राष्ट्रवादियों के निशाने पर चढ़ गए है और सोशल साइटस पर यह देशभक्त ओम पुरी जैसे महान अभिनेता को बुरा भला बोल रहें हैं। और गालियाँ देनी की वजह उनके वह बयान हैं जिनसे फर्जी देशभक्तों की राजनीतिक निष्ठा को ठेस पहुंची थी।

खैर अभिनेता हो या पत्रकारए साहित्यकार हो या फिर छात्र ए उन्मादी संगठित गिरोह की नज़र में सभी देशद्रोही हैं अगर उन्होंने सरकार की नीतियों से असहमति रखने वाले दो शब्द बोल दिए तो। तो वह देशद्रोही है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY