एक अनोखा रहस्य, 200 साल पहले शरीर को सोने से ढक दिया

एक अनोखा रहस्य, 200 साल पहले शरीर को सोने से ढक दिया

202
SHARE

200 साल पहले एक पार्थिव शरीर आज भी चर्चा का विषय बन गया है! जांच के बाद सामने आया कि बौद्ध साधु ने साधना और तपस्या के लिए खुद को एक भूमिगत कमरे में कैद कर लिया था! सांस लेने के लिए उन्होंने एक बांस की मदद ली होगी!

हालांकि रिसर्चर इस बात का पता नहीं कर पाए कि आखिर क्यों सोने का इस्तेमाल किया गया! आज भी 1200 साल से सरंक्षित बौद्ध स्टैच्यू चर्चा का विषय है सांस लेने के लिए उन्होंने एक बांस की मदद ली होगी! उस बौद्ध साधु ने कमल की मुद्रा में साधना करते हुए दम तोड़ दिया!

ममी बने साधु के शिष्यों ने 200 साल पहले उनके शरीर को बर्बाद होने से बचाने के लिए सोने से ढक दिया! हालांकि रिसर्चर इस बात का पता नहीं कर पाए कि आखिर क्यों सोने का इस्तेमाल किया गया!

उस बौद्ध साधु ने कमल की मुद्रा में साधना करते हुए दम तोड़ दिया ममी बने साधु के शिष्यों ने 200 साल पहले उनके शरीर को बर्बाद होने से बचाने के लिए सोने से ढक दिया!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY