यूएई का कानून है सर्वोपरि, कत्ल के इल्ज़ाम में 10 भारतीयों को...

यूएई का कानून है सर्वोपरि, कत्ल के इल्ज़ाम में 10 भारतीयों को सज़ाए मौत

75
SHARE

युनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) का कानून सारी दूनिया में मशहुर है वहां मुद्दे को भटकाया नहीं जाता जल्द से जल्द फैसला सुनाकर उस पर अमल किया जाता है!

यूएई मं पंजाब के 10 नौजवानों को सजा-ए-मौत दी गई है! यह आदेश एक दिसंबर को आया है! इनको यह सज़ा एक पाकिस्तानी के कत्ल के आरोप में सुनाई गई है! इन सबके बीच अवैध शराब की ब्रिकी को लेकर झगड़ा हुआ था!

सभी नौजवानों के परिवारवालों ने केंद्र और राज्य सरकार से आगे आकर उन लोगों को बचाकर वापस भारत लाने की गुहार लगाई है! जिन 11 लोगों पर आरोप लगा उनका नाम हरप्रीत सिंह, अजय कुमार, सतमिंदर सिंह, चंद्र शेखर, हजेंद्र, कुलविंदर सिंह, धर्मवीर सिंह, तारसेम सिंह, गुरप्रीत सिंह, जगजीत सिंह और टोनी है! यह नौजवान गरीब परिवार से हैं और वहां प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, राज मिस्त्री और बढ़ई का काम करते हैं!

परिवार के सदस्यों ने आम आदमी पार्टी (आप) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेताओं से मुलाकात की थी! इसके अलावा सबके परिवारवाले पंजाब राज्य के सेड्यूल कास्ट (एससी) कमीशन के पास भी पहुंचे थे लेकिन कुछ नहीं हो सका!

in-uae-10-indians-received-death-penalty1

अब परिवार वालों ने दुबई के एक बिजनेसमैन सीपी सिंह ओबरोय से गुहार लगाई गई है! वह सजा-ए-मौत पा चुके भारतीय लोगों को बचाने के लिए एक कैंपेन चलाते हैं! वह अबतक पंजाब और हरियाणा के 17 युवाओं को ऐसे केसों से बचा भी चुके हैं!

ओबरोय के मुताबिक आखिर तक केस को लड़ेंगे और हो सका तो जान गंवाने वाले शख्स के परिवार को सहायता राशि देकर केस को खत्म करने की भरपूर कोशिश करेंगे! उन्होंने आगे बताया कि यूएई के कानून के हिसाब से अगर मृतक का परिवार सहायता राशि लेने के लिए तैयार हो जाता है तो फिर केस खत्म हो सकता है!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY