असदुद्दीन ओवैसी का अनूठा व्यक्तित्व, अपने अंदाज़ से देश में प्रिय नेता

असदुद्दीन ओवैसी का अनूठा व्यक्तित्व, अपने अंदाज़ से देश में प्रिय नेता

108
SHARE

एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी का नाम सुनते ही सामने एक ऐसे इंसान की तस्वीर आ जाती है जिसकी शेर की तरह दहाड़, निष्पक्ष व्यक्तित्व, संवेदनशील हृद्य और अत्याधिक अनुभव हो! आज देश की राजनीति में उनका एक विश्ष्टि स्थान है! बच्चा-बच्चा उनकी बेबाकी के लिए उन्हैं जानता है! हम आपको बताते हैं ओवैसी की ज़िंदगी से जुड़े कुछ किस्से!

ओवैसी की शुरुआत-
असदुद्दीन ओवैसी का जन्म 13 मई 1969 को हैदराबाद में हुआ था! उनकी आरंभिक शिक्षा हैदराबाद पब्लिक स्कूल से हुई! 1984 से 1986 तक वे सेंट मैरी जूनियर कॉलेज में पढ़े! 1986.89 के दौरान उन्होंने निजाम कॉलेज से बीए किया!

आगे की पढ़ाई लंदन से की है-
असदुद्दीन ओवैसी ने बीए करने के बाद 1989.1994 में उन्होंने लंदन के लिंकन कॉलेज से बैरिस्टर की डिग्री हासिल की!

असदुद्दीन का परिवार-
ओवैसी की शादी 1996 में फरहीन ओवैसी से हुई थी! उनकी पांच बेटियां और एक बेटा है! उनके हर फैसले में परिवार का समर्थन भी प्राप्त होता है!

अक्सर विवादों में रहते हैं-
ओवैसी अक्सर विवादों में रहते हैं! वह बहुत ही बेबाकी से बोलते हैं और शायद यही बेबाकी उनके लिए मुसीबत खड़ी कर देती है! हालांकि जब विवादित बयान की जिक्र होता है तो चाहे कोई भी मौका हो उनके छोटे भाई अकबरूद्दीन ओवैसी का नाम ही आता है! अकबरूद्दीन ओवैसी कई बार विवादित बयान दे चुके हैं! हिंदू धर्म पर टिप्पणी करने की वीडियो वायरल होने के बाद कुछ साल पहले उनकी जमकर आलोचना हुई थी! वहीं कुछ दिन पहले असदुद्दीन ओवैसी ने भारत माता की जय पर बयान देकर बहस छेड़ दी थी! उन्होंने कहा था कि उनके गले पर छुरी भी रख दी जाए तो वह भारत माता की जय नहीं बोलेंगे!

देश के विकास के लिए अग्रसर-
ओवैसी यूं तो अपने विवादस्पद बयानों के लिए सुर्खियों में बने रहते हैं! लेकिन अगर उनके संसदीय क्षेत्र की बात की जाए तो यहां उनकी छवि एक विकास करने वाले नेता की है! यही कारण है कि हैदाराबाद में उन्हें अवाम बेहद पसंद करती है! उनके हर बयान में देश को आगे बढ़ाना व भारत की विशव मंच पर स्थिति का ज़िक्र हमेशा रहता है!

विपक्षियों की बोलती बंद कर देते हैं-
मंच हो या संसद का सत्र ओवैसी अपनी हाज़िर जवाबी व अपने अनुभवों से विपक्षियों की बोलती बंद कर देते हैं! संसद में तो उनके सामने बोलने की किसी में हिम्मत नहीं होती क्योंकि जिस मुद्दे पर वह बोलते है उसका गहन अध्ययन और तर्क के साथ बोलते हैं!

देशभक्ति की झलक-
असदुद्दीन ओवैसी के अन्दर देश प्रेम कूट कूट कर भरा आया है! जब देश पर कोई आंच आती है तो उनका खून खोलने लगता है! अभी कोर्ट ने सिनेमा घरों में राष्ट्रगान को अनिवार्य कर दिया है तो ओवैसी ने इसका समर्थन किया है!

ओवैसी ने किया सरेंडर-
ओवैसी पर निगम चुनावो के दौरान कांग्रेस नेताओं के साथ बदसलूकी और मारपीट करने का आरोप लगे थे! 7 फरवरी 2016 को ओवैसी ने डीसीपी ;साउथद्ध वीण् सत्यनारायन के सामने सरेंडर किया था! जिसमें बाद में उन्हें जमानत मिल गयी!

महाराष्ट्र में लहरा चुके हैं जीत का परचम-
1984 के बाद से हैदराबाद लोकसभा सीट पर एमआईएम का कब्जा है! उनसे पहले उनके पिता सुल्तान सलाउद्दीन ओवैसी हैदराबाद से लगातार छह बार सांसद रह चुके हैं! तेलंगाना से बाहर निकल कर ओवैसी ने पार्टी को अन्य राज्यों में दाखिल करने की सफल कोशिश कर दी है! जिसकी शुरूआत उन्होंने महाराष्ट्र में दो सीटें जीतने के साथ हुई है! अन्य राज्यों में भी उन्हें बहुत पसंद किया जा रहा है!

अब किया है यूपी का रुख-
ओवैसी की नज़र अब उत्तर प्रदेश पर है! वह यहां दलित.मुस्लिम वोटर्स को लुभाने की कोशिश में लगे हैं! हालांकि अपनी तकरीरों से मुस्लिम युवाओं को आकर्षित करने वाले ओवैसी की राह में यहां रोड़े भी कम नहीं हैं! राजनीतिक जानकारों का मानना है कि ओवैसी अगर मुस्लिम वोटर्स को ज्यादा प्रभावित नहीं कर पाते तो इसका फायदा बीजेपी को हो सकता है!

लोकप्रियता के मामले में भी आगे-
सोशल नेट्वर्किंग साइट पर लोग उनकों काफी पसंद करते हैं! किसी राजनेता के तौर पर यह बहुत बड़ी उपलब्धि है! पसंद करने वाले लोगों में भी सबसे ज्यादा युवा हैं!

अंजुम कुरैशाी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY