योगी सारकार ने मदरसो पर एक ओर नोटिस जारि करते हुए कहा....

योगी सारकार ने मदरसो पर एक ओर नोटिस जारि करते हुए कहा. अब NCERT कि किताबें भी पढाई जाए मदरसो में

32
SHARE

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार मदरसों पर खास मेहरबान दिखाई दे रही हैं। इसलिए सरकार बनने के बाद से ही मदरसो को लेकर कोई न कोई नोटिफिकेशन जारी होता रहता है। नये आदेश में योगी सरकार नें मदरसों के पाठ्यक्रम में छब्म्त्ज् की किजाबे शामिल करने का फैसला किया है। जिस पर विवाद खड़ा हो गया है। जहां योगी सरकार की दलील है की इससे मदरसों में पढने वाले बच्चे बाकी स्कूलों के बच्चो से प्रतिस्पर्धा कर सके।
लेकिन उलेमाओ को ऐसा नही लगताए उनका कहना है की सरकार मदरसो के पाठ्यक्रमों में ज़बदस्ती बदलाव करना चाहती है। इसलिए ऐसे फैसले लिए जा रहे है उलेमाओ ने सरकार के इस फैसले को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है न्यूज़ एजेंसी भाषा के अनुसार दारूम उलूम अशरफिया के मोहतमित मौलाना सालिक अशरफ ने योगी सरकार के फैसले पर असहमति जताई। उन्होंने कहा की हम सरकार के इस आदेश से सहमत नही हैंए इसलिए हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे। योगी सरकार जबरदस्ती मदरसों के पाठ्यक्रमों में बदलाव करना चाहती है। हालांकि उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने टव्टि कर जो जानकारी दी है उसमें कहा गया की मदरसों में मजहबी किताबो के साथ साथ एनसीआरटी की किताबों भी पढाई जायेंगीए इसके लिए सरकार ने मंजूरी दे दी है। इसमें गण्ति और विज्ञान की किताबे शामिल हैं। हालांकिए मदरसो में कक्षा 8 तक के स्तर तक गण्तिए हिन्दीए आंग्रेजीए विज्ञान जैसे विषय पढाये जाते है लेकिन सरकार के फैसले के बाद हाई स्कूल और उससे उच्च स्तर तक भी गण्ति और विज्ञान के विषय पढाये जा सकेंगे। उल्लेखनीय है की योगी सरकार इससे पहले मदरसो को आॅनलाइन करने का भी आदेश जारी कर चुकी है। आदेश के अनुसार मदरसो को उनके यहां पढाने वाले शिक्षकए बच्चे और कमरों तक की जानकारी आॅनलाइन करनी थीए जिसको लेकर काफी विवाद भी हुआ था।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY