मोदी और पुतिन के बीच मीटिंग शुरू, हो सकती है 40 हजार...

मोदी और पुतिन के बीच मीटिंग शुरू, हो सकती है 40 हजार करोड़ की डिफेंस डील

98
SHARE
पणजी.ब्रिक्स समिट के पहले नरेंद्र मोदी और रूस के प्रेसिडेंट व्लादिमीर पुतिन के बीच मीटिंग शुरू हो गई है। भारत-रूस के बीच करीब 40 हजार करोड़ रुपए की डिफेंस डील होने की संभावना है। भारत क्या खरीद सकता है रूस से…
– भारत रूस से पांच ‘S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम’ और 200 ‘कामोव केए-226 टी’ हेलिकॉप्टर खरीद सकता है।
– 40 हैलिकॉप्टर रूस से आएंगे। बाकी देश में बनेंगे। वहीं, S-400 डिफेंस सिस्टम में 400 किमी दूर से आ रहे टारगेट को ट्रैक करने की कैपिसिटी रहेगी।
– यह पाकिस्तान या चीन की 36 न्यूक्लियर पावर्ड बैलिस्टिक मिसाइलों को एक वक्त में एक साथ टारगेट कर सकेगा। यह सिस्टम इंडियन आर्मी को जबर्दस्त शील्ड देगा।
– फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन विकास स्वरूप ने बताया- “ब्रिक्स समिट के पहले रूस, साउथ अफ्रीका और चीन के साथ बाइलेटरल टॉक होगी।”
– ” हमें उम्मीद है कि बातचीत के दौरान डिफेंस, सिक्युरिटी जैसे कई मुद्दों पर बातचीत होगी।”
– “रूस के साथ डिफेंस और काउंटर टेररिज्म जैसे मुद्दों पर बातचीत होगी।”
दूसरी बार समिट की मेजबानी कर रहा है भारत
– ब्रिक्स पांच देशों ब्राजील, रूस, भारत, चीन और साउथ अफ्रीका का ग्रुप है। यानी, समिट में दुनिया की 43% आबादी का रिप्रेजेंटेशन होगा। इनकी कुल जीडीपी दुनिया की जीडीपी का 23.1% है।
– भारत इस समिट की दूसरी बार मेजबानी कर रहा है। भारत ने शुक्रवार को ब्रिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च एंड एनालिसिस और ब्रिक्स क्रेडिट रेटिंग एजेंसी का प्रस्ताव दिया।
– भारत समिट के जरिए पाकिस्तान को दुनिया से अलग-थलग करने की अपनी मुहिम को आगे बढ़ाएगा।
– पीएम नरेंद्र मोदी रूसी प्रेसिडेंट पुतिन और चीन के प्रेसिडेंट शी जिनपिंग से कई मुद्दों पर अलग से भी बात करेंगे।
– समिट के दौरान ही ‘बिम्सटेक’ की भी मीटिंग होगी। इसमें भूटान के पीएम, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, थाइलैंड और म्यांमार के लीडर भी शामिल होंगे।
SHARE

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY