दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर क्यों फिदा हुआ पाकिस्तान?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर क्यों फिदा हुआ पाकिस्तान?

46
SHARE

नई दिल्ली (जेएनएन)। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर धुर विरोधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सैल्यूट करने वाले अरविंद केजरीवाल अब सवालों के घेरे में हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा जारी वीडियो संदेश में पीएम मोदी की तारीफ करने के दौरान पीएम से सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत सामने लाने की मांग से भाजपा सकते हैं।वहीं, पाकिस्तान आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के वीडियो में कथन को भारत को घेरने के लिए इस्तेमाल कर रहा है। दो मिनट 52 सेकंड के इस वीडियो में केजरीवाल ने पीएम मोदी से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सामने लाने की मांग की।भारतीय जनता पार्टी ने भी केजरीवाल के इस वीडियो में सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत मांगने को लेकर हैरानी जताई है। सूत्रों के मुताबिक, हैरानी इस बात पर भी जताई जा रही है, जब पाकिस्तान तक भारत से इस संबंध में ठोस सुबूत की मांग नहीं कह रहा है, ऐसे में केजरीवाल की यह मांग हैरान करने वाली है।

माना जा रहा है कि अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को सैल्यूट करने के साथ उड़ी शहीदों की प्रशंसा तक ही खुद को सीमित नहीं रखा। केजरीवाल ने मोदी की तारफी तो महज 40 सेकंड में की, इसके बाद दो मिनट उन्होंने पाकिस्तान की गलत नीतियों पर बात की। केजरीवाल ने इस विडियो में पीएम से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सामने लाने की मांग की है। सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ से भाजपाई खुश नजर आए, लेकिन पूरा वीडियो देखने के बाद उनकी गफलत दूर हो गई। कुछ भाजपा नेताओं ने तो यहां तक कहना शुरू कर दिया कि आखिरकार केजरीवाल को प्रधानमंत्री की तारीफ करनी पड़ी।

केजरीवाल का वीडियो टिप्पणी लायक नहीं हैः भाजपा

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इस तरह के किसी बयान पर प्रतिक्रिया देने की उन्हें जरूरत नहीं है, क्योंकि देश के सामरिक और रणनीतिक मुद्दे केंद्र सरकार देखती है और इन कामों में किसी को दखल नहीं देना चाहिए। केजरीवाल का वीडियो टिप्पणी लायक नहीं है।

नई दिल्ली (जेएनएन)। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर धुर विरोधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सैल्यूट करने वाले अरविंद केजरीवाल अब सवालों के घेरे में हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा जारी वीडियो संदेश में पीएम मोदी की तारीफ करने के दौरान पीएम से सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत सामने लाने की मांग से भाजपा सकते हैं।

वहीं, पाकिस्तान आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के वीडियो में कथन को भारत को घेरने के लिए इस्तेमाल कर रहा है। दो मिनट 52 सेकंड के इस वीडियो में केजरीवाल ने पीएम मोदी से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सामने लाने की मांग की।

भारतीय जनता पार्टी ने भी केजरीवाल के इस वीडियो में सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत मांगने को लेकर हैरानी जताई है। सूत्रों के मुताबिक, हैरानी इस बात पर भी जताई जा रही है, जब पाकिस्तान तक भारत से इस संबंध में ठोस सुबूत की मांग नहीं कह रहा है, ऐसे में केजरीवाल की यह मांग हैरान करने वाली है।

माना जा रहा है कि अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को सैल्यूट करने के साथ उड़ी शहीदों की प्रशंसा तक ही खुद को सीमित नहीं रखा। केजरीवाल ने मोदी की तारफी तो महज 40 सेकंड में की, इसके बाद दो मिनट उन्होंने पाकिस्तान की गलत नीतियों पर बात की। केजरीवाल ने इस विडियो में पीएम से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सामने लाने की मांग की है।

सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ से भाजपाई खुश नजर आए, लेकिन पूरा वीडियो देखने के बाद उनकी गफलत दूर हो गई। कुछ भाजपा नेताओं ने तो यहां तक कहना शुरू कर दिया कि आखिरकार केजरीवाल को प्रधानमंत्री की तारीफ करनी पड़ी।दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इस तरह के किसी बयान पर प्रतिक्रिया देने की उन्हें जरूरत नहीं है, क्योंकि देश के सामरिक और रणनीतिक मुद्दे केंद्र सरकार देखती है और इन कामों में किसी को दखल नहीं देना चाहिए। केजरीवाल का वीडियो टिप्पणी लायक नहीं है।

SHARE

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY