ठरकी बाबा ने स्कूल में छेड़ी थी लड़की, निकाला था स्कूल से...

ठरकी बाबा ने स्कूल में छेड़ी थी लड़की, निकाला था स्कूल से बाहर

50
SHARE

डेरा सच्चा प्रमुख गुरपीत राम रहीम को दसवीं में ही लड़कियों के साथ छेड़छाड़ मामले में स्कूल से निकाल दिया गया था। उसके खिलाफ आने वाली शिकायतों के कारण उसके घरवाले भी बेहद परेशान रहते थे। जी हां, ये है हकीकत डेरा सच्चा प्रमुख की जो स्कूल के समय से ही विवादों में रहता था। वह लाखों लोगों का भाग्य विधाता बन जाएगा, ये सोचना भी अजीब लगता है।
कहा जाता है कि राम रहीम शुरू से ही ना सिर्फ़ रसिया किस्म का लड़का था, बल्कि स्कूल के दिनों से ही लड़कियों को छेड़ना, आस-पास के लोगों को परेशान करना उसकी आदतों में शुमार था। लड़कियों के साथ छेड़खानी की वजह से नवीं क्लास में गुरमीत को स्कूल से निकाल भी दिया गया था। दसवीं में इन्हीं हरकतों के वजह से गुरमीत फेल हो गए और उन्हें कंपार्टमेंट आया था, ये बाबा के दसवीं का रिजल्ट है।
खबर है कि एक समय में ये डेरा ना सिर्फ़ हरियाणा, बल्कि पंजाब, राजस्थान, यूपी समेत आस-पास के कई राज्यों में श्रद्धा और भक्ति का केंद्र हुआ करता था। इस आश्रम की बुनियाद 69 साल पहले 29 अप्रैल 1948 को संत बेपरवाह मस्ताना जी महाराज ने रखी थी। लोग बताते हैं कि वे एक काफी पहुंचे हुए संतों में से एक थे। डेरे के ही अनुयायी बताते हैं कि तीसरे गद्दीनशीं यानी राम रहीम को चुनने के मामले में शाह सतनाम जी से ग़लती हो गई।
लोगों का कहना है कि जब बेपरवाह मस्ताना जी ने डेरे की शुरुआत की थी तो डेरे में भक्ति का माहौल हुआ करता था। उसके बाद सतनाम जी ने भी उन्हीं के नक्शे-कदम पर चले। लेकिन रहीम के कमान सभांलने के बाद से ही डेरे के माहौल में बदलाव होने लगा। और आज बाबा अपनी करतूतों की वजह से जेल भी पहुंच गया।

SHARE

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY